Tuesday, October 6, 2009

प्रातः ....















इक
दिन अचानक
रात्रि के अंतिम प्रहर को
जब स्वयं ने प्रत्यक्ष देखा
स्वप्न मेरे स्वप्न रह गए
क्यूंकि सोया नहीं था मैं
किरण फूटी ...
लाल व्योम , नभ था नारंगी फिर
चिडियों ने फिर राग नया छेड़ा
की अब
आकाश नीला प्रतीत हुआ
रवि का राज फिर सम्पन्न हुआ
उषा ने फिर बाँधी सेज
स्वप्न मेरे जग उठे सब
अब चाँद को
चिडियों ने लोरी गा के सुला दिया
देखो सुबह हो ही गयी

12 comments:

  1. अब चाँद को
    चिडियों ने लोरी गा के सुला दिया
    देखो सुबह हो ही गयी ...very nice!!!

    ReplyDelete
  2. ब्लॉग जगत में आपका स्वागत हैं, लेखन कार्य के लिए बधाई
    यहाँ भी आयें आपके कदमो की आहट इंतजार हैं,
    http://lalitdotcom.blogspot.com
    http://lalitvani.blogspot.com
    http://shilpkarkemukhse.blogspot.com
    http://ekloharki.blogspot.com
    http://adahakegoth.blogspot.com
    http://www.gurturgoth.com
    http://arambh.blogspot.com
    http://alpanakegreeting.blogspot.com

    ReplyDelete
  3. Bahut Barhia... aapka swagat hai...isi tarah likhte rahiye

    thanx
    http://mithilanews.com


    Please Visit:-
    http://hellomithilaa.blogspot.com
    Mithilak Gap...Maithili Me

    http://mastgaane.blogspot.com
    Manpasand Gaane

    http://muskuraahat.blogspot.com
    Aapke Bheje Photo

    ReplyDelete
  4. चिटठा जगत में आपका हार्दिक स्वागत है. आप बहुत अच्छा लिख रहे हैं, और भी अच्छा लिखें, लेखन के द्वारा बहुत कुछ सार्थक करें, मेरी शुभकामनाएं.
    ---

    ---
    हिंदी ब्लोग्स में पहली बार Friends With Benefits - रिश्तों की एक नई तान (FWB) [बहस] [उल्टा तीर]

    ReplyDelete
  5. SUNDAR SHABD-CHITRA ! blog-jagat me swagat hai piyawar !
    anand v. ojha

    ReplyDelete
  6. बहुत ही सुन्दर प्रकृति चित्रण । स्वागत है ।

    गुलमोहर का फूल

    ReplyDelete
  7. बहुत बढिया लिखा आपने .. हिन्‍दी चिट्ठा जगत में आपका स्‍वागत है .. उम्‍मीद करती हूं .. आपकी रचनाएं नियमित रूप से पढने को मिलती रहेंगी .. शुभकामनाएं !!

    ReplyDelete
  8. sabhi gurujano ka mera sadar pranam aur aapki shubhkamnao ke liye dhanya vaad aage bhi raah dikhate rahe

    ReplyDelete
  9. ur getting better n better with each piece!!

    ReplyDelete